Uncategorized

आपके सपने सांसारिक पदो को प्राप्त करना मेरा सपना है भगवान बनना…मुमुक्षु श्रुति बहन।

रायपुरिया@राजेश राठौड़ 

 

रायपुरिया:- निप रतलाम निवासी वीर माता पिता सुभाष व किरण मुणत की सुपुत्री श्रुति मूणत 21 अप्रैल महावीर जयंती के दिन प.पू. प्रवर्तक श्री जिनेंद्र मुनि जी के मुखारविंद से जैन भागवती दीक्षा अंगीकार करने जा रही है। श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के वरिष्ठ श्रावक अनिल मुथा के निवास मुथा परिसर पर बहुमान अभिन्नदन पश्चात यहां से जयकार यात्रा स्थानक भवन पर पंहूची स्थानक भवन में मुमुक्षु श्रुति बहन का संघ द्वारा अभिनंदन किया गया ,साथ ही वीर माता-पिता व बहन शालु दख का भी बहुमान किया गया, विर माता ने बताया कि मुमुक्षु श्रुति बहन चार वर्ष की उम्र से ही पुरुषार्थ कर रही थी।अब दीक्षा ग्रहण कर अपने पुरुषार्थ को सार्थक कर रही है।

मुमुक्षु श्रुति बहन ने अपने सम्मान के प्रतिउत्तर में मार्मिक स्तवन प्रस्तुत कर अपना उद्बोधन दिया। और कहां कि वह श्रुति से सती, सती से सिद्ध बनने के लिए दीक्षा कि अग्रसर हो रही है। मेरे इस प्रयास के सभी साक्षी बने ।और अनुमोदन हेतु रतलाम आवश्यक पधारे ।और ऐसी अनुमोदन करें कि आपकी और अनुमोदन मेरे लिए स्मरणीय बन जाए। हमारा जीव नरक तिरियंच मनुष्य व देव गति सभी जगह जाकर आ गया। पर सुख कहीं नहीं मिला शाश्वत सुख पाने के लिए संयम ही श्रेष्ठ मार्ग है संसार नहीं संयम ही अच्छा हैं आप सभी जनो के सपने डॉक्टर , इंजीनियर कोई वकील तो कोई सीए बनने के सपने होंगे पर मेरा भी एक सपना है ,कि मैं भगवान बनु।

अभिनंदन समारोह में अनिल मुथा, विमल मुथा, आशीष भंडारी मुकेश मुथा ,विकास भंडारी, गौरव भंडारी ,रमन कोटडिया, धनंजय कोटडिया ,भूमि भंडारी सहित श्रावक श्राविकाएं उपस्थित थी जयकारा यात्रा बिना किसी आडंबर के स्थानक भवन पहुची।जहां पर दीक्षार्थी बहन के सम्मान में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया । अनिल मुथा ने श्री संघ की और से मुमुक्षु बहन के रायपुरिया पधारने पर आभार जताया,श्री संघ ने माता-पिता व बहन का सम्मान किया,संचालन सजंय मुथा ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×