Uncategorized

नगर में तेजा दशमी बड़े हर्षो उल्लास के साथ मनाई गई।

शनिवार रात हुआ तेजाजी का खेल एवं तेजाजी की कथा का वाचन पंडित अविनाश उपाध्याय द्वारा किया गया।

सारंगी@संजय उपाध्याय

नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र में सत्य वीर तेजाजी महाराज की भादवा माह की तेजा दशमी धूमधाम से मनाई एवं मन्नत धारी ने अपनी मन्नत उतारी। नगर मे निशान यात्रा का चल समारोह ढोल के साथ बेरोव नाथ मंदिर से प्रारंभ हुवा जो नगर के गली मोहल्ले सदर बाजार ,हनुमान जी मंदिर होते हुए शूरवीर तेजाजी महाराज के मंदिर प्रांगण में पहुंची निशांत यात्रा में अखाड़े के कलाकार द्वारा शानदार प्रस्तुति दी गई उसके बाद शुभ मुहूर्त में पीड़ित के हाथ पैर पर तेजाजी महाराज के नाम से बांधी गई ताती को तोड़ा गया तेजाजी महाराज के गोडले द्वारा यह कार्य संपन्न किया जाता है तेजा दशमी के उपलक्ष्य में एक दिन का मेला भी यहां पर लगता है दूर-दूर से हजारों भक्त इस मंदिर पर दर्शन करने के लिए श्रद्धालु पहुंचते हैं और अपनी मन्नत उतारते हैं मन्नत धारी व्यक्ति द्वारा निशान भी चढ़ाया जाता है‌ इस मंदिर पर हजारों की संख्या में दर्शन करने के लिए श्रद्धालु पहुंचते हैं पुराने बुजुर्ग बताते हैं कि जब कोई जहरीला जानवर किसी पुरुष,महिला या मवेशी को डस लेता है तो इस समय सत्यवीर तेजाजी महाराज के नाम से पीड़ित को धागा बांधा जाता है उसके बाद उसके शरीर में जहर नहीं फैलता है इसी मान्यताओं के साथ तेजा दशमी का पर्व मनाया जाता है शाम पांच बजे तक ताती तोडने का दौर चलता रहा आज के दिन किसानी कार्य बंद रहता है व धारदर वस्तु का इस्तेमाल नहीं किया जाता है दसमीं के एक दिन पूर्व मन्दिर पर जागरण एवम तेजाजी का खेल कलाकारों के द्वारा किया जात है। तेजा दशमी के उपलक्ष्य में अखाडे का आयोजन किया गया जिसमें सारंगी ,करडावद , बाछी खेड़ा के कलाकारों द्वारा तरह तरह के करतब दिखाए गए।

इस कार्यक्रम को लेकर पुलिस प्रशासन भी सतर्क रहा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×